May 25, 2022

TheLucknowExpress

बात सिर्फ़ लखनऊ की …..

सरकार की भाग्य लक्ष्मी योजना से मिलेंगे 2 लाख रुपए , तुरंत करे Apply

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बेटियों के लिए एक विशेष योजना की शुरुआत की है, जिसका नाम भाग्य लक्ष्मी योजना है। इस योजना के तहत राज्य में बेटी के जन्म पर माता-पिता को आर्थिक मदद के रूप में कुछ राशि दी जाती है। इसके साथ ही बेटी की पढ़ाई-लिखाई में भी सरकार उसकी मदद करती है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश में कन्या भ्रूण हत्या और लिंगानुपात को रोकना है। भाग्य लक्ष्मी योजना खासतौर पर ऐसे परिवारों के लिए शुरू की गई है जो आर्थिक रूप से काफी कमजोर हैं। अगर आपके भी घर में हाल ही में बेटी का जन्म हुआ है और आप इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं, तो आपको सरकार की कुछ शर्तों का पालन करना होगा, जिनको पूरा करने के बाद ही आप इस योजना का लाभ ले सकेंगे। क्या है भाग्य लक्ष्मी योजना और इसका लाभ कैसे लिया जा सकता है, आइए जानते हैं सबकुछ विस्तार से…

भाग्य लक्ष्मी योजना क्या है ?

भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ गरीबी रेखा के नीचे यानी बीपीएल कार्ड धारकों को ही दिया जाता है। बेटी के जन्म से ही ये योजना एक्टिव हो जाती है और 21 साल की उम्र में मेच्योर हो जाती है। सबसे पहले बेटी के जन्म लेते ही मां को बेटी के लिए 5100 रुपए दिए जाते हैं, ताकि परवरिश में किसी तरह की दिक्कत ना हो। इसके साथ ही बीच-बीच में सरकार बेटी को पढ़ाई के लिए भी पैसे देती रहती है।

भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें ?

इस योजना में रजिस्ट्रेशन कराने के लिए आपको किसी नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर सेंटर यानी ई-मित्र सेंटर में जाना होगा। खास बात ये है कि इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन भी बिल्कुल फ्री है।

भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए किन दस्तावेजों की होगी जरूरत ?

इसके लिए आपके पास यूपी का निवास प्रमाण पत्र, बेटी का जन्म प्रमाण पत्र, माता-पिता का आधार कार्ड, आय प्रमाण पत्र, घर के पते का प्रूफ, बैंक अकाउंट डिटेल्स होना जरूरी है।

कैसे मिलता है भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ?
बेटी का जन्म पर सरकार 50,000 रुपए का बांड देती है।
ये बांड 21 साल बाद मेच्योर होकर 2 लाख का हो जाता है।
इसके अलावा बेटी की जन्म के समय उसकी परवरिश के लिए मां को 5100 रुपए अलग से दिए जाते हैं।
बेटी के कक्षा 6 में आने पर उसके खाते में 3,000 रुपए डाले जाते हैं।
कक्षा 8 में पहुंचने पर 5,000 रुपए का फायदा दिया जाता है।
कक्षा 10 में पहुंचने पर बेटी के खाते में 7,000 रुपए डाले जाते हैं।
कक्षा 12वीं में आने पर 8,000 रुपए का योगदान सरकार की ओर से दिया जाता है।

भाग्य लक्ष्मी योजना के पात्र
इस योजना का लाभ केवल बीपीएल परिवार की बेटियों को मिलता है, जिनकी आय प्रति वर्ष दो लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए।

भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए शर्तें 

  • इसका लाभ उन्हीं बेटियों को मिलता है जिनका जन्म 2006 के बाद हुआ हो।
  • बेटी के जन्म के एक महीने के भीतर आंगनबाड़ी केंद्र में पंजीयन करना अनिवार्य।
  • बेटी की शिक्षा सरकारी स्कूल में होनी चाहिए।
  • बेटी की शादी 18 साल से पहले नहीं होनी चाहिए।
  • सरकारी कर्मचारी को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।